What is the Full Form of ICSE Full Form in Hindi

ICSE Full Form in Hindi, ICSE Ka Full Form Kya Hai, ICSE का Full Form क्या है, ICSE Ka Poora Naam Kya Hai, आई. सी.एस. ई क्या है, ICSE का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

ICSE Full Form in Hindi आई. सी.एस. ई क्या है

ICSE Full Form in Hindi: ICSE की फुल फॉर्म Indian Certificate of Secondary Education होती है . इसको हिंदी मे माध्यमिक शिक्षा के भारतीय प्रमाण पत्र कहा जाता है. यह एक Exam होता हैं जो भारतीय स्कूल प्रमाणपत्र परीक्षा द्वारा Conducted होता है. ICSE प्राइवेट और गैर सरकारी School Education Board हैं जो India में 10th Class के लिए होता है. यह Board Education क्षेत्र में नई नीति को पूरा करने के लिए तैयार किया गया हैं जो 1986 में परिचय हुआ था. ICSE Exam का माध्यम अंग्रेज़ी है. यह Board इसलिए तैयार हुआ था क्योंकि उन दिनों सभी School ICSE Touch हो रहे थे इस बोर्ड में वही बच्चे परीक्षा दे सकते हैं जो ICSE स्कूल से पढ़े हो.

ICSE Board Subject

ICSE बोर्ड के Subject को तीन Groups मे विभाजित किया जाता है.

Group 1

  • English
  • Civics & Geography
  • History
  • Indian Language

Group 2

  • Science
  • Mathematics
  • Computer Science
  • Technical Drawing
  • Social Studies

Group 3

  • Economic
  • Fashion Designing
  • Computer Application
  • Cookery
  • Physical Education

ICSE Board की स्थापना कब की गयी?

ICSE बोर्ड की स्थापना 1956 में हुई थी, और इस board की स्थापना मुख्यतः भारत मे आंग्ल-भारतीय Education के उद्देश्य से किया गया था, जैसा की आप जानते है इस Institute को हमारे भारत में नई Education नीति 1986 के सिफारिशों के अनुसार, सामान्य education के syllabus में एक परीक्षा प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है।

ICSE का क्या मतलब है ?

आज के समय में पढाई कितना Important है, ये तो आप जानते है क्युकी आज के समय में Study ही ऐसी चीज़ है जिससे की आप अधिक ज्ञान Earned कर सकते है तो ऐसे बहुत से माता पिता सोचते है की अपने बच्चो को अच्छी education दी जा सकती है वह अपने जीवन में कुछ अच्छे कर पाए और Life को अच्छे से जी पाया तो ऐसे में माता -पिता अपने बच्चे को अपने शहर के अच्छे स्कूल में दाखिला करवाते है लेकिन Admission करवाते समय उनके सामने एक problem आ जाती है कि वह अपने बच्चों को किसके पास है. से बोर्ड में दाखिल करवाए क्युकी बोर्ड मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते हैं ICS, सीबीएसई और राज्य बोर्ड.

ICSE क्या है और क्या कार्य करती है ?

ICSE का फुल फॉर्म “भारतीय माध्यमिक शिक्षा प्रमाणपत्र” होता है. यह बोर्ड भारत और अन्य देशों में शिक्षा प्रदान करता है. ICSE का हिंदी फुल फॉर्म माध्यमिक शिक्षा के भारतीय प्रमाण पत्र है. ICSE का हेडक्वाटर नई दिल्ली में स्थित है. इस संस्था को एक निजी, गैर-सरकारी शिक्षा बोर्ड माना जाता है. ICSE बोर्ड को नई शिक्षा नीति 1986 की शिफॉनिक्स को पूरा करने के लिए बनाया गया था. इस बोर्ड की सभी परीक्षाओं में केवल अंग्रेजी में ही आयोजित की जाती है. ICSE बोर्ड की परीक्षाओं में केवल संबद्ध कॉलेज के नियमित छात्र शामिल हो सकते हैं.

ICSE बोर्ड भारत में 20 से अधिक भारतीय भाषाओं में अपनी education को प्रदान करता है. इसके अलावा 12 विदेशी भाषाओं में भी education प्रदान करता है. पूरे भारत सहित सिंगापुर और संयुक्त अरब अमीरात जैसे देशों में 1000 से अधिक स्कूल संबंधित हैं. ISCE बोर्ड में अंग्रेजी, दूसरी भाषा (दूसरी भाषा), इतिहास / नागरिक शास्त्र और भूगोल (इतिहास / नागरिकशास्त्र और भूगोल) और विज्ञान Applications को अनिवार्य विषय में रखा गया है. यह विषय हर Students को लेना है.

ICSE का पूर्ण रूप क्या है?

ICSE भारतीय सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन का संक्षिप्त नाम है. यह एक परीक्षा है जो बोर्ड द्वारा 10 वीं कक्षा के लिए भारतीय अध्ययन प्रमाणपत्र परीक्षा के लिए की जाती है. विषयों को दो भागों में विभाजित किया गया था. भाग I में कला, सामाजिक रूप से उपयोगी उत्पादक कार्य, शारीरिक शिक्षा, नैतिक और आध्यात्मिक मूल्यों में शिक्षा और कम से कम कक्षा V से कक्षा VIII की तीसरी भाषा जैसे पाठ्यक्रम शामिल हैं. अभ्यर्थियों ने इन पाठ्यक्रमों को लिया होगा.

भाग II दो समूहों से बना है. समूह I में अनिवार्य विषय हैं जैसे अंग्रेजी, एक दूसरी भाषा, इतिहास, नागरिक शिक्षा और भूगोल. एक उम्मीदवार दो विषयों में से चुन सकता है: गणित, विज्ञान, अर्थशास्त्र, व्यावसायिक अध्ययन, तकनीकी ड्राइंग, आधुनिक विदेशी भाषा, शास्त्रीय भाषा, कंप्यूटर विज्ञान, पर्यावरण विज्ञान और कृषि विज्ञान. समूह III में कंप्यूटर अनुप्रयोग, आर्थिक अनुप्रयोग और व्यावसायिक अनुप्रयोग जैसे विषयों की सूची है, जिसमें से छात्र किसी एक विषय को चुन सकता है. समूह I और समूह II में, बाहरी और आंतरिक मूल्यांकन का भार 80:20 है. समूह III में, दोनों को बराबर भार दिया जाता है.

ICSE के प्रमुख उद्देश्य

ICSE भारतीय स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा परिषद (CISCE) से जुड़ा हुआ है जो निजी, Non Governmental शिक्षा बोर्ड है। इस शिक्षा बोर्ड का मुख्यालय New Delhi में स्थित है। यह भारत में Cambridge University Exam प्रणाली के अनुकूल बनाने के लिए गठित किया गया था। यह भारत में तीन परीक्षाएँ संचालित करता है –

RRB NTPC Question Paper 2021 PDF Shifts In English
RRB NTPC Question 29 December Answer Key PDF Shift 1,2 Download
Indian Railway Customer Care Number
CTET Syllabus 2022 PDF in Hindi
Upkar Reasoning Book PDF Download in English
RRB Questions and Answers PDF
Machine Input Output PDF

  1. ICSE (Indian Certificate of Secondary Education) – 10 वीं कक्षा के लिए
  2. CVE (Certificate for Vocational Education) – 12 वीं कक्षा के लिए
  3. ISC (Indian School Certificate) – 12 वीं कक्षा के लिए

ICSE Board की प्रमुख विशेषतायें

  • यह बोर्ड सभी विषयों जैसे भाषा, Science, गणित, Art इत्यादि पर ध्यान देता है।
  • यह बोर्ड सभी छात्रों के लिए different विषयों का चयन करने के लिए अधिक option प्रदान करता है।
  • ICSE बोर्ड छात्रों के व्यावहारिक ज्ञान व All Round Development पर ज्ञान में वृद्धि पर केंद्रित है।
  • इस बोर्ड द्वारा भाषा विषयों के रूप में 20 से अधिक भारतीय भाषाओं और 12 विदेशी भाषाओं की सुविधा प्रदान करता है।
  • India और Singapore , संयुक्त अरब अमीरात जैसे अन्य देशों में व्यापक कवरेज (1000 से अधिक स्कूल) भी हैं।

ICSE Board और CBSE Board में अंतर

  • आईसीएसई के अलावा भारत में सीबीएसई बोर्ड सबसे ज़्यादा उपयोग में हैं। ICSE दूसरे बोर्ड से कितना अलग है आईये जानते हैं:
  • सीबीएसई में आपको हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों माध्यम का विकल्प मिलता हैं और आईसीएसई में केवल अंग्रेज़ी माध्यम हैं।
  • दूसरे बोर्ड में गणित और विज्ञान जैसे विषयों पर ज़्यादा ध्यान केन्द्रित करते हैं जबकि आईसीएसई में भाषाओ, कला और दूसरे विषयों पर भी समान ध्यान दिया जाता हैं।
  • दूसरे बोर्ड में Theory को अधिक महत्व दिया जाता हैं और आईसीएसई में Practical और परियोजना कार्यो पर।
  • आईसीएसई में विद्यार्थी भी कम मात्रा में होते हैं ताकि एक शिक्षक हर विद्यार्थी पर पूरा ध्यान दे सके। आईसीएसई में हर विद्यार्थी को पाठ्यक्रम के अलावा उसके पसंद के कौशल सीखने के लिए प्रोत्साहित किया जाता हैं। आईसीएसई में पढ़ाने का तरीका रचनात्मक हैं जो हर विद्यार्थी की क्षमता को पहचान सके।
  • यह बोर्ड दूसरे बोर्ड से थोड़ा मुश्किल भी हैं। आईसीएसई बोर्ड की परीक्षा हर साल फरवरी और मार्च महीने के दौरान होती हैं और मई-जून तक उसके परिणाम आते हैं। सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएँ आमतौर पर मार्च महीने में आयोजित की जाती हैं।

ICSE बोर्ड के लाभ ?

  • यह बच्चे के समग्र विकास पर केंद्रित है.
  • इसका पाठ्यक्रम सभी विषयों को समान महत्व देता है.
  • यह विशिष्ट विषयों के चयन का लचीलापन प्रदान करता है.
  • यह अंग्रेजी पर बढ़त के साथ प्रत्येक विषय के विस्तृत अध्ययन पर जोर देता है.
  • यह दुनिया भर के अधिकांश स्कूलों और कॉलेजों द्वारा स्वीकार किया जाता है.
  • ICSE पाठ्यक्रम अच्छी तरह से संरचित और संपीड़ित है. इसका उद्देश्य छात्रों को विश्लेषणात्मक कौशल, समस्या को सुलझाने के कौशल और व्यावहारिक ज्ञान प्रदान करना है.

ICSE की तैयारी ?

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ICSE और सीबीएसई के बीच अंतर के बावजूद, ICSE छात्र आसानी से एनटीएसई, ओलंपियाड आदि जैसे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकते हैं.

विज्ञान और गणित जैसे विषयों का मूल पाठ्यक्रम लगभग समान है. सवालों के उचित अभ्यास के साथ, ICSE निश्चित रूप से इन परीक्षाओं को क्रैक कर सकता है.

ICSE के छात्र Embibe पर विज्ञान और गणित के लिए कक्षा 10 मॉक टेस्ट ले सकते हैं. ये परीक्षण, मुफ्त में उपलब्ध हैं, न केवल उनके ICSE बोर्ड परीक्षा में बल्कि अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में भी मदद करेंगे.

Conclusion

यह बोर्ड ऐसा शिक्षण माहौल प्रदान करता हैं जो एक विद्यार्थी का पूर्ण रूप से विकास करे। यहाँ से शिक्षा लेने के बाद एक विद्यार्थी अपने क्षेत्र में अवश्य आगे आता हैं। हालांकि यह थोड़ा महँगा ज़रूर हैं। परंतु इस लेख को पढ़कर आपका बोर्ड का Confusion ज़रूर दूर हुआ होगा।

क्योंकि आपने यहाँ जाना कि ICSE Kya Hai, आईसीएसई का मतलब हिंदी में (ICSE Meaning In Hindi), Full Form Of ICSE, History of ICSE In Hindi और आईसीएसई के बारे में जानकारी।

आप अपने सवाल Comment Box में पुछ सकते हैं। इस लेख के बारे में अपने दृष्टिकोण रखे ताकि हम इससे भी अच्छे लेख आपके लिए ला सके।

Leave a Comment

दिल्ली मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना 2022 Books PDF Machine Input Output Question PDF in Hindi Download REET Question Paper PDF Download Level 1 & 2 E-Shram Card Registration UP 2022 | E-Shram Card के लाभ हिन्दी मे।